this best barsaat shayari in hindi 2017


  • 🔺ख्यालों में वही, सपनो में वही🔺
  • 🔺लेकिन उनकी यादों में हम थे ही नही🔺
  • 🔺हम जागते रहे दुनिया सोती रही🔺
  • 🔺एक बारिश ही थी, जो हमारे साथ रोती रही🔺


  • ❤बरसात की भीगी रातों में फिर कोई सुहानी याद आई,
  • कुछ अपना जमाना याद आया कुछ उनकी जवानी याद आई,
  • हम भूल चुके थे जिसने हमें दुनिया में अकेला छोर दिया,
  • जब गौर किया तो एक सूरत जानी पहचानी याद आई.

  • ❤ए बारिश ज़रा थम के बरस,
  • जब मेरा यार आ जाए तो जम के बरस,
  • पहले ना बरस की वो आ ना सके,
  • फिर इतना बरस की वो जा ना सके.


  • ❤किसने भीगे हुए बालों से ये झटका पानी,
  • झूम के आई घटा टूट के बरसा पानी.

  • कोई मतवाली घटा पीके जवानी की उमंग,
  • दिल बहा ले गया बरसात का पहला पानी.


  • ❤मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है,
  • बारिश के हर क़तरे से आवाज़ तुम्हारी आती है.

  • बादल जब गरजते हैं, दिल की धड़कन बढ़ जाती है,
  • दिल की हर एक धड़कन से आवाज़ तुम्हारी आती है.

  • जब तेज़ हवायें चलती है तो जान हमारी जाती है,
  • मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है.


  • ❤बिन बादल बरसात नहीं होती,
  • सूरज डूबे बिना रात नहीं होती,
  • अब कुछ ऐसे हालत हैं हमारे की,
  • आपको देखे बगैर दिन की शुरुआत नहीं होती.


  • ❤एक रोने से तू मिल जाए तो खुदा की कसम
  • इस धरती पे सावन की बरसात लगा दूं …!



  •  


  • Barsaat shayari

  • ❤बेवफ़ाई की इंतेहा कर दे,
  • ता'के मालूम हो वफ़ा क्या है.


  • Barsaat shayari in hindi

  • ❤ठुकरा सकी ना आँधी किरण के सवाल को
  • ठुकरा सकी ना आँधी किरण के सवाल को
  • फेला दिया ही शब ने सितारों के जाल को

  • Shayaris for barsaat for love in hindi

  • ❤फूल बन कर गिर चुकी शाखो से मे
  • फूल बन कर गिर चुकी शाखो से मे
  • ओर ओसी मेरा पता दरकार हे

  • Barsaat shayari sms and messages in hindi

  • ❤बारिश थी भीगी रात थी
  • बारिश थी भीगी रात थी, मैं भीगता रहा
  • क़दमों के तेरे सब निशान मैं खोजता रहा

  • Urdu barsaat shayari

  • ❤ज़ब्त ए घर ये कभी करता हों तो फरमाते हैं
  • ज़ब्त ए घर ये कभी करता हों तो फरमाते हैं,
  • आज क्या बात है बरसात नहीं होती है.

  • Hindi Baarsish Shayari

  • ❤आज मौसम
  • आज मौसम में कुछ अजीब सी बात हे,
  • बेकाबू से हमारे जज़्बात हे,
  • जी कहता हे तुमको चुरा ले तुम्ही से,
  • पर मम्मी कहती हे की चोरी करना बुरी बात हे

  • Best 1 line barsaat shayari

  • ❤एक रोने से तू मिल जाए तो खुदा की कसम
  • इस धरती पे सावन की बरसात लगा डून …!

  • Sad barsaat shayari

  • ❤वो मुझ से मेरे खामोशी की वजह पूछता है
  • वो मुझ से मेरे खामोशी की वजह पूछता है
  • कितना पागल है रात के सन्नाटे की वजह पूछता है
  • वो मुझ से मेरे आँसू की वजह पूछता है
  • कितना पागल है बारिश के बरसने की वजह पूछता है
  • वो मुझ से मेरे मोहब्बत के बारे मे पूछता है
  • कितना पागल है खुद अपने बारे मे पूछता है
  • वो मुज से मेरे वफ़ा की इंतेहा पूछता है
  • कितना पागल है साहिल पे खड़ा है समुंदर की गहराई पूछता है


  • ❤हल्की हल्की बारिश
  • कल हल्की हल्की बारिश थी
  • कल सर्द हवा का रक़स भी था
  • कल फूल भी निखरे निखरे थे
  • कल उन पे आप का अक्स भी था
  • कल बादल काले गहरे थे
  • कल चाँद पे लाखों पहरे थे
  • कुछ टुकरे आप की याद के
  • बरी देर से दिल मैं ठहरे थे
  • कल यादे उलझी उलझी थीं
  • और कल तक यह ना सुलझी थी
  • कल याद बहुत तुम आए थे
  • कल याद बहुत तुम आए थे


  • ❤बारिश उसे पसंद हे
  • सुना हे बारिश उसे भी पसंद हे
  • वो भी मेरी तरहन बरसती बूँदों को हाथों मे समा लेती हे
  • सुना हे फूल उसे भी पसंद हैं
  • वो भी मेरी तरहन फूलों से घंटों बाते करती रहती हे
  • सुना हे चाँद उसे भी पसंद हे
  • वो भी मेरी तरहन रात रात भर उसे ताकती रहती हे
  • सुना हे तन्हाई उसे भी पसंद हे
  • वो भी मेरी तरहन?????.
  • पर वो तन्हा बैठ कर किस को सोचती हे?
  • सारी बाते सच्ची हैं मगर
  • ये भी सच हे
  • मैं जो उस क बारे मे हर बात की खबर रखता हूँ
  • ये भी जानता हूँ की उस की सोचों का माहवार मैं नही


  • ❤काफ़ी अरसा बीत गया
  • 🔺काफ़ी अरसा बीत गया जाने अब वो कैसा होगा
  • वक़्त की सारी कड़वी बाते चुप चाप सहता होगा
  • अब भी भीगी बारिश में वो बन के छतरी चलता होगा
  • 🔺मुझसे बिछड़े अरसा बीता अब वो किस से लड़ता होगा
  • अच्छा था जो साथ ही रहते बाद में उस ने सोचा होगा
  • अपने दिल की सारी बाते खुद से खुद ही करता होगा ?


  • 🔺वो तो बारिश की बूंदे देखकर
  • 🔺वो तो बारिश की बूंदे देखकर खुश होता हैं
  • 🔺उस को क्या मालूम की हर घिरने वाला कतरा पानी नही होता

  • ❤बूँदें गिर पड़ी बरसात में
  • आ गयी थी एक दिन तन्हाए भी जज़्बात में
  • आँख से भी कुछ बूँदें गिर पड़ी बरसात में
  • कैसे उठे बादल
  • कैसी बीती रात कीसी से मत कहना
  • सपनों वाली बात कीसी से मत कहना
  • कैसे उठे बादल ओर कहाँ टकराए
  • कैसी हुई बरसात कीसी से मत कहना

No comments :