Shayari for making new girlfriend2017

चाँद पे जो नूर है,
उसको उस में गुरूर है,
हम किस पर गुरूर करे
हमारा चाँद तो हम से दूर है

*************

हर शाम के बाद रात आती है, हर बात के बाद तुम्हारी याद आती है,, चुप रह कर भी देख लिया हम ने,खामोशी से भी तुम्हारी आवाज़ आती है.

*************

यू ही तन्हाई मैं हम दिल को सज़ा देते हैं, नाम लिखते हैं तेरा लिख कर मिटा देते हैं, यै सोच कर रहने दिया अरमानो को दिल मैं, मेहमान कभी घर से निकाले नही जाते.

*************

कभी खामोशी भी बहुत कुछ कह जाती है,
तड़पने के लिए यादे रह जाती है,
क्या फ़र्क पड़ता है दिल हो या कोयला,
जलने के बाद तो सिर्फ़ राख रह जाती है…

*************

आज खुशिओ की कोई दुहाई देगा,निकला है चाँद तो दिखाई देगा.
ए मोहब्बत करने वालो ज़रा देख के मोहब्बत करना ,एक
आँसू भी गिरा तो सुनाई देगा..

*************

आँखें आपकी हो पर आँसू मेरे!
ज़िंदगी आपकी हो पर साँसे मेरी!
दिल आपका हो पर धड़कन मेरी हो. ज़िंदगी के आखरी मोड़ पे दुआ है, की कफ़न आपका और लाश मेरी हो…

*************





↞ज़िंदगी मे नये लोग हर दम मिलेंगे,
↜कहीं ज़्यादा कहीं कम मिलेंगे,
↚एतबार ज़रा सोच के करना,
↜मुमकिन नही हर जगह तुम्हें हम मिलेंगे

*************

⇍मैने हर बार तुझ से मिलते वक़्त
⇍तुझ से मिलने की आरज़ू की है
⇍तेरे जाने क बाद भी मैंने
⇍तेरी खुश्बू से गुफ्तगू की है

*************

पूछो ना उस काग़ज़ से,जिस पर हम दिल के बयान लिखते हैं.
तन्हाइयो मे बीती बाते तमाम लिखते हैं,
वो कलम भी दीवानी हो गयी,
जिस से हम आप का नाम लिखते हैं.

No comments :