hindi sms good morning

Qउदासियों की वजह तो बहुत है जिंदगी में;
पर बेवजह खुश रहने का मज़ा ही कुछ और है।
इसलिए हमेशा खुश रहो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qखिलते फूल जैसे लबों पर हंसी हो;
ना कोई गम हो ना कोई बेबसी हो;
सलामत रहे ज़िंदगी का यह सफ़र;
जहाँ आप रहो वहाँ बस ख़ुशी ही ख़ुशी हो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qतब तक कमाओ जब तक महंगी चीज़ सस्ती ना लगने लगे;
चाहे वो सम्मान हो या सामान।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
सकारात्मक सोच आपके जीवन को सही दिशा देती है।
सही सोचें, सही समझें, सही दिशा मे बढें।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qदो पल की ज़िन्दगी है इसे जीने के सिर्फ दो असूल बना लो,
रहो तो फूलों की तरह और बिखरो तो खुशबू की तरह।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qस्वर्ग का सपना छोड़ दो,
नरक का डर छोड़ दो,
कौन जाने क्या पाप, क्या पुण्य,
बस किसी का दिल न दुखे अपने स्वार्थ के लिए,
बाक़ी सब कुदरत पर छोड़ दो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qज़िन्दगी तब बेहतर होती है जब हम खुश होते हैं,
लेकिन यकीन करो ज़िन्दगी तब बेहतरीन हो जाती है जब हमारी वजह से सब खुश होते हैं।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qदौलत छोड़ी दुनिया छोड़ी सारा खज़ाना छोड़ दिया;
सतगुरु के प्यार में दीवानों ने राज घराना छोड़ दिया;
दरवाज़े पे जब लिखा हमने नाम हमारे सतगुरु का;
मुसीबत ने दरवाज़े पे आना छोड़ दिया।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qदेर मैंने ही लगाई पहचानने में ऐ भगवान,
वरना तुमने जो दिया उसका तो कोई हिसाब ही नहीं;
जैसे जैसे मैं सिर को झुकाता चला गया,
वैसे वैसे तू मुझे उठाता चला गया।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qभाग्य से जितना अधिक उम्मीद करेंगे वह उतना ही निराश करेगा।
कर्म में विश्वास रखें, आपको अपनी अपेक्षाओं से सदैव अधिक मिलेगा।
सुप्रभात!

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX


Qशुरुआत करने के लिए महान होने की ज़रुरत नहीं, पर महान होने के लिए शुरुआत करनी पड़ती है।
उठो.और जोश के साथ इस नए दिन की नयी शुरुआत करो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qहर नयी सुबह का नया नया नज़ारा;
ठंडी हवा लेकर आयी है पैगाम हमारा;
कि खुशियों से भरा रहे आज का दिन तुम्हारा।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qगुलशन में भँवरों का फेरा हो गया,
पूरब में सूरज का डेरा हो गया,
खिलती मुस्कान के साथ खोलो आँखें,
देखो एक बार फिर से नया सवेरा हो गया।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qअच्छे के साथ अच्छे रहो लेकिन बुरे के साथ बुरे नहीं बनो क्योंकि पानी से गंदगी साफ कर सकते हैं, गंदगी से गंदगी नही।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qकल का दिन किसने देखा है, तो आज का दिन भी खोये क्यों;
जिन घडि़यों में हँस सकते हैं, उन घड़ियों में रोये क्यों।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qजिन्हें ख्वाब देखना अच्छा लगता है उन्हें रात छोटी लगती है;
और जिन्हें ख्वाब पूरे करना अच्छा लगता है उन्हें दिन छोटा लगता है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qऐ सूरज मेरे अपनों को यह पैगाम देना;
खुशियों का दिन हँसी की शाम देना;
जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को;
तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना। 
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qजब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोए थे जबकि पूरी दुनिया ने जश्न मनाया था।
अपना जीवन ऐसे जियो कि तुम्हारी मौत पर पूरी दुनिया रोए और तुम जश्न मनाओ।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसमस्याएं इतनी ताक़तवर नहीं हो सकती जितना हम इन्हें मान लेते हैं।
ऐसा कभी नहीं हुआ कि अंधेरों ने सुबह ही ना होने दी हो। चाहे कितनी भी गहरी काली रात हो उसके बाद सुबह होनी ही है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
माला की तारीफ़ तो सब करते हैं, क्योंकि मोती सबको दिखाई देते हैं लेकिन तारीफ़ के काबिल तो धागा है जिसने सब को जोड़ रखा है। इसलिए केवल मोती ही ना बनें वो धागा भी बनें जो सब को जोड़े।
सुप्रभात!

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX


Qएक छोटा शब्द है... पढ़ें तो 'सेकंड' लगेगा
सोचें तो 'मिनट' लगेगा
समझें तो 'दिन' लगेगा
और साबित करने में पूरी ज़िन्दगी लग जाती है।
वो है 'विश्वास'। इसलिए कभी इसे टूटने मत दीजिये।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह की प्यारी रौनक तो देखो,
इन आँखों में बसी उनकी तस्वीर तो देखो,
हम ने आपको प्यारा सा सन्देश भेजा है सुप्रभात का,
एक बार उठ कर इसे प्यार से तो देखो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qबेझिझक मुस्कुराएँ जो भी गम है,
ज़िन्दगी में टेंशन किसको कम हैं,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
ज़िन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसफलता भी फीकी लगती है यदि कोई बधाई देने वाला नहीं हो और विफलता भी सुंदर लगती है जब आपके साथ कोई अपना खड़ा हो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qरात गुज़री फिर महकती सुबह आई,
दिल धड़का फिर आपकी याद आई,
आँखों ने महसूस किया उस हवा को,
जो आपको छूकर हमारे पास आई।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qचाँद तारे छुप गए मिट गया अंधकार,
धूप सुनहरी देखकर जाग गया संसार,
दिन आपका गुजरे अच्छा करते है दुआ हज़ार,
भेज रहे हैं खिली धूप के साथ सुबह का नमस्कार।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसूरज की पहली किरण आपको हँसी दे,
उड़ते पंछी आपको मधुर वाणी दे,
ताज़ी हवा की ख़ुशबू आपको शांति दे,
इसी तरह आपका दिन मंगलमय रहे।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
कलियाँ खिल उठी एक प्यारे से एहसास के साथ,
एक नया विश्वास दिन की शुरुआत एक मीठी सी मुस्कान के साथ,
आपको बोलना है मंगलमय हो आपका हर दिन, मंगल हो ये सुप्रभात।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qयदि हम उंचा उठना चाहते है तो, अपने अंदर के अहंकार को निकालकर, स्वयं को हल्का करना पडेगा... क्योंकि ऊँचा वही उठता है जो हल्का होता है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qना किसी के आभाव में जियो, ना किसी के प्रभाव में जियो;
ज़िन्दगी आपकी है बस अपने मस्त स्वभाव में जियो।
सुप्रभात!

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX

Qश्रद्धा' ज्ञान देती है, 'नम्रता' मान देती है, और 'योग्यता' स्थान देती है।
और तीनों मिल जाएं तो व्यक्ति को हर जगह 'सम्मान' देती हैं।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qपग-पग सुनहरे फूल खिलें,
कभी ना हो काँटों का सामना;
ज़िन्दगी आप की खुशियों से भरी रहे,
बस यही है हमारी मोनकामना।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qकाली अँधेरी रात के बाद सुबह है आई;
उठकर देखो सुबह का नज़ारा, सूर्य की रौशनी से सारी दुनिया है जगमगाई;
क्या हुआ अगर कल गम में बीता, आज की सुबह नयी उमीदें है ले कर आई।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qज़िंदगी की हर सुबह कुछ शर्तें लेकर आती है और ज़िंदगी की हर शाम कुछ तज़ुर्बे देकर जाती है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह सुबह ज़िन्दगी की शुरुआत होती है;
किसी अपने से बात हो तो खास होती है;
हँस के प्यार से अपनों को सुप्रभात बोलो तो;
खुशियाँ अपने आप साथ होती हैं।
आप का दिन शुभ हो!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qनया दिन नयी सुबह करिये नयी शुरुआत,
जागो उठो खोलो पलकें हो गया प्रभात!
आपका दिन मंगलमय हो!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qखूबसूरत तस्वीरें नैगेटिव से तैयार होती हैं वो भी अँधेरे में, इसलिए जब भी आपके जीवन में अन्धकार नज़र आये तो समझ लीजिये कि ईश्वर आपके भविष्य की सुंदर सी तस्वीर का निर्माण कर रहा है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qकागज अपनी किस्मत से उड़ता है, लेकिन पतंग अपनी काबिलियत से।
इसलिए किस्मत साथ दे या न दे, काबिलियत जरुर साथ देती है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qहर सूर्यास्त हमारे जीवन से एक दिन कम कर देता है, लेकिन हर सूर्योदय हमें आशा भरा एक और दिन दे देता है। 
इसलिए सदैव हर सुबह बेहतर की उम्मीद करें।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qनन्हीं कली खिल चुकी है,
बगिया में तितली गुनगुना रही है,
तू आँख खोल तुझे सुबह जगा रही है,
ख्वाबों की वो गलियाँ सोने जा रही हैं
कह दे अब चंदा को अलविदा, 
सुबह तेरे लिए खुशियों का मल्हार गा रही है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX



Qकोयल की कुहू कुहू में हैं जो मिठास,
नदिया के जल में भी है खनकती आवाज,
ऐसा ही सुरीला होगा आपका आज,
दिल से कहते हैं आपको सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qस्वभाव रखना है तो उस दीपक की तरह रखो जो बादशाह के महल में भी उतनी रोशनी देता है जितनी किसी गरीब की झोपड़ी में।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह का मौसम और सतगुरु की याद,
हलकी सी ठडंक और सिमरन की प्यास,
संगत की सेवा और नाम की मिठास,
शुरू कीजिए अपना दिन प्रभु के साथ।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qप्रसन्न व्यक्ति वह है जो निरंतर स्वयं का मूल्यांकन एवं सुधार करता है।
जबकि दुःखी व्यक्ति वह है जो दूसरों का मूल्यांकन करता है।
सुपरभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qएक सुबह ऐसी भी हो,
जहाँ आँखे जिंदा रहने के लिये नहीं, पर जिंदगी जीने के लिए खुलें। सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qभगवान आपको ढेर सारा प्याज़ और खूब सारी खुशियाँ दे।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह का मौसम जैसे जन्नत का एहसास,
आँखों में नींद और चाय की तलाश,
जागने की मज़बूरी, थोड़ा और सोने की आस,
पर आपका दिन शुभ हो हमारी सुप्रभात के साथ।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qरिश्तों की बगिया में एक रिश्ता नीम के पेड़ जैसा भी रखना;
जो सीख भले ही कड़वी देता हो पर तकलीफ में मरहम भी बनता है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह सुबह की खूबसूरत किरणें कहने लगी मुझे,
जल्दी से बाहर तो देखो मौसम कितना प्यारा है;
मैंने भी कह दिया, थोड़ी देर रुक जाओ,
पहले उसको मैसेज तो कर लूँ जो मुझे जान से प्यारा है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qअपनी जुबान से किसी की बुराई मत करो, क्योंकि बुराईयाँ तुममें भी हैं और ज़ुबान दूसरों के पास भी है।
सुप्रभात!

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qहर जलते दीपक तले अँधेरा होता है,
हर रात के पीछे एक सवेरा होता है,
लोग डर जाते हैं मुसीबत को देख कर,
मगर हर मुसीबत के पीछे सच का सवेरा होता है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qयदि सपने सच नहीं हो तो रास्ते बदलो सिद्धान्त नहीं;
क्योंकि पेड़ हमेशा पत्तियाँ बदलते हैं, जड़ें नहीं।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qआप का हर लम्हा गुलाब हो जाये,
आप का हर पल शादाब हो जाये,
जिन पर बरसती हैं खुदा की रहमतें,
आपका भी नाम उनमें शुमार हो जाये।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह की हर धूप कुछ याद दिलाती है;
हर महकती खुशबू एक जादू जगाती है;
कितनी भी व्यस्त क्यों ना हो यह ज़िन्दगी;
सुबह सुबह अपनों की याद आ ही जाती है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qअच्छे के साथ अच्छे रहो लेकिन बुरे के साथ बुरे नहीं बनो।
क्योंकि पानी से गंदगी साफ कर सकते हैं, गंदगी से गंदगी नही।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qजो परमात्मा को दिल देते हैं,
परमात्मा उन्हें दिल से देते हैं।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qना किसी के आभाव में जियो,
ना किसी के प्रभाव में जियो,
ज़िन्दगी आपकी है बस अपने मस्त स्वभाव में जियो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qविक्लप बहुत हैं बिखरने के लिए,
संकल्प एक ही काफी है संवरने के लिए।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qहर दिन अच्छा नहीं हो सकता लेकिन हर दिन में कुछ अच्छा ज़रूर होता है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
ऐ सूरज मेरे अपनों को यह पैगाम देना;
खुशियों का दिन हँसी की शाम देना;
जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को;
तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना। 
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX

Qये दुनिया ठीक वैसी है जैसी हम इसे देखना पसंद करते हैं। यहाँ पर किसी को गुलाबों में काँटे नजर आते हैं तो किसी को काँटों में गुलाब।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qगलती कबूल करने और गुनाह छोड़ने में कभी देर ना करें क्योंकि सफर जितना लम्बा होगा वापसी उतनी मुश्किल होगी।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
जीत की आदत अच्छी होती है मगर कुछ रिश्तों में हार जाना ही बेहतर होता है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qलम्हों की एक किताब है ज़िन्दगी,
साँसों और ख्यालों का हिसाब है ज़िन्दगी,
कुछ ज़रूरतें पूरी, कुछ ख्वाहिशें अधूरी,
बस इन्ही सवालों का जवाब है ज़िन्दगी।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qज़िन्दगी की हर सुबह कुछ शर्तें लेकर आती है
और ज़िन्दगी की हर शाम कुछ तज़ुर्बे देकर जाती है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qखिलखिलाती सुबह, ताज़गी से भरा सवेरा है;
सुबह की बहारों ने आपके लिए रंग बिखेरा है;
सुबह कह रही है जाग जाओ अब नींद से;
आपकी मुस्कुराहट के बिना तो सब अधूरा है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qमंजिल मिले ना मिले ये तो मुकद्दर की बात है;
हम कोशिश भी ना करें ये तो गलत बात है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qबढ़ते कदमो को ना रुकने दे ऐ मुसाफिर;
चाहे रास्ता हो कठिन और मंज़िल हो दूर;
चाहे ना मिले रास्ते में कोई हमसफ़र;
फिर भी झुकना नहीं और पा लेना लक्ष्य को करके बाधाएं सारी दूर।
सुप्रभात !
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qजो परमात्मा को दिल देते हैं,
परमात्मा उन्हें दिल से देते हैं।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qहर घर में ख़ुशी की फुहार हो,
हर आँगन में सुबह शाम मस्ती की बहार हो,
खुशियों की नदियाँ बहती रहें सब के दिलों में,
ऐसे ही सदा हँसता और मुस्कुराता हर परिवार हो।
सुप्रभात!

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX

Qजो उड़ते हैं अहम के आसमानों में;
ज़मीन पर आने में वक़्त नहीं लगता;
हर तरह का वक़्त आता है ज़िंदगी में;
वक़्त के गुज़रने में वक़्त नहीं लगता।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qॐ में ही आस्था;
ॐ में ही विश्वास;
ॐ में ही शक्ति;
ॐ में ही सारा संसार;
ॐ से होती है अच्छे दिन की शुरुआत।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qमुबारक हो आपको खुदा की दी यह जिंदगी;
खुशियों से भरी रहे आपकी यह जिंदगी;
गम का साया कभी आप पर ना आये;
दुआ है यह हमारी आप सदा यूँ ही मुस्कुराएं।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qजीवन में "परेशानिया" चाहे जितनी हों, 
"चिंता" करने से और ज्यादा होती हैं,
"खामोश" होने से बिलकुल "कम", 
"सब्र" करने से "खत्म" हो जाती हैं,
तथा परमात्मा का "शुक्र" करने से 
"खुशियो" मे बदल जाती हैं।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
सारा जहाँ उसी का है जो मुस्कुराना जानता है;
रौशनी भी उसी की है जो शमा जलाना जानता है;
हर जगह मंदिर मस्जिद और गुरूद्वारे हैं लेकिन;
ईश्वर तो उसी का है जो सर झुकाना जानता है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qइतिहास कहता है कि कल सुख था,
विज्ञान कहता है कि कल सुख होगा,
लेकिन धर्म कहता है कि अगर मन सच्चा और दिल अच्छा है तो हर रोज़ सुख होगा।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह सुबह ज़िन्दगी की शुरुआत होती है;
किसी अपने से बात हो तो खास होती है;
हँस के प्यार से अपनों को सुप्रभात बोलो तो;
खुशियाँ अपने आप साथ होती हैं।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह की हर धूप कुछ याद दिलाती है;
हर महकती खुशबू एक जादू जगाती है;
कितनी भी व्यस्त क्यों ना हो यह ज़िन्दगी;
सुबह सुबह अपनों की याद आ ही जाती है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qवक़्त और समझ किस्मत वालों को ही मिलता है।
क्योंकि वक़्त हो तो समझ नहीं आती और समझ आती है तो वक़्त नहीं होता।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुबह सुबह हो खुशियों का मेला;
ना हो लोगों की परवाह, ना हो दुनिया का झमेला;
पंछियो का हो मधुर संगीत, और मौसम हो अलबेला;
मुबारक हो आपको ये ख़ूबसूरत सवेरा।
सुप्रभात!सुबह का उजाला सदा आपके साथ हो;
हर दिन का एक एक पल हमेशा आपके साथ हो;
दुआ हमेशा निकलती है दिल से आपके लिए;
हज़ारों खुशियों का खज़ाना आपके पास हो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qजैसे हर सुबह हमारे जीवन का एक नया आरम्भ होता है वैसे ही चलो हम अपने बीते दिनों के सभी ग़म भुला कर आओ एक नयी शुरुआत करें।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qख़ुशी एक ऐसा एहसास है, जिसकी हर किसी को तलाश है;
ग़म एक ऐसा अनुभव है, जो सबके पास है;
मगर ज़िन्दगी तो वही जीता है, जिसको खुद पर विश्वास है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
ये खूबसूरत फ़िज़ाओं में फूलों की खुशबू हो;
सुबह की किरण में पंछियों की आवाज़ हो;
जब भी खोलो अपनी ये निगाहें;
उन निगाहों में सिर्फ खुशियों की झलक हो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qहँसी आपकी कोई चुरा ना पाये;
कभी कोई आपको रुला ना पाये;
खुशियों के ऐसे दीप जले ज़िंदगी में;
कि कोई तूफ़ान भी उसे बुझा ना पाये।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qहर सुबह की धूप कुछ याद दिलाती है;
हर महकती खुशबू एक जादू जगाती है;
ज़िन्दगी कितनी भी व्यस्त क्यों ना हो;
निगाहों पर सुबह सुबह अपनों की याद आ ही जाती है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qऐ सुबह तुम जब भी आना सब के लिए सतगुरु की रेहमत लाना।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qप्यारी सी मधुर निंदिया के बाद;
रात के कुछ सपनों के साथ;
सुबह की कुछ उम्मीदों के साथ;
आपको प्यार भरा सुप्रभात।
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qईश्वर वह नहीं देता जो आपको अच्छा लगता है,
ईश्वर वह देता है जो आपके लिए अच्छा होता है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
जो जैसा है उसे वैसे ही अपना लो,
रिश्ते निभाने आसान हो जायेंगे।
सुप्रभात!

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX

Qहे प्रभु!
दोनों हाथ जोड़ कर आपसे विनती है कि उन्हें खुश रखना जो मुझे याद करते हैं।
सुप्रभात   
हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब दो;
चाहे पूरा ना हो पर आवाज़ तो दो;
एक पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे;
सिर्फ एक शुरुआत तो दो।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qभूल होना 'प्रकृति' है;
मान लेना 'संस्कृति' है;
सुधार लेना 'प्रगति' है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qवक़्त और समझ किस्मत वालों को ही मिलता है।
क्योंकि वक़्त हो तो समझ नहीं आती और समझ आती है तो वक़्त नहीं होता।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qसुप्रभात ऐ सुरज मेरे अपनो को यह पैगाम देना;
खुशियों का दिन हँसी की शाम देना;
जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को;
तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qज़िन्दगी एक पल है जिसमे ना आज है ना कल है;
जी लो इसको इस तरह कि जो भी आपसे मिले वो यही कहे;
बस यही मेरी ज़िंदगी का हसीन पल है।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
जितनी खूबसूरत ये सुबह है;
उतना ही खूबसूरत आपका हर पल हो;
जितनी भी खुशियाँ आज आपके पास हैं;
उससे भी अधिक आने वाले कल हो।
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
सुप्रभात   
Qहर सुबह तेरी दुनिया में रौशनी कर दे;
रब तेरे ग़म को तेरी ख़ुशी कर दे;
जब भी टूटने लगें तेरी साँसें;
खुदा तुझमे शामिल मेरी ज़िन्दगी कर दे।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
Qहर फूल आपको एक नया अरमान दे;
सूरज की हर किरण आपको सलाम दे;
निकले कभी जो एक आँसू भी आपका,
तो खुदा आपको उससे दोगुनी मुस्कान दे।
सुप्रभात।
सुप्रभात!
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX 
Qमीठे बोल बोलिए क्योंकि
अल्फाजों में जान होती है,
इन्हीं से आरती, अरदास और अजान होती है,
ये दिल के समंदर के वो मोती हैं, जिनसे इंसान की पहचान होती है।
सुप्रभात!

No comments :