Hindi shayari in the remembrance girlfriend Sent2017


  • समझा दो तुम अपनी यादों को ज़रा,
  • वक़्त-बेवक़्त तंग करती हैं मुझे कर्ज़दार की तरह!

  • ↶नही आती तो उनकी याद महीनो तक नही आती;
  • ↪मगर जब याद आते हैं, तो अक्सर याद आते हैं!

  • ↹चली आती है तेरी याद मेरे ज़हन में अक्सर,
  • ↹तुझे हो ना हो तेरी यादों को ज़रूर मुझसे मोहब्बत है!

  • मोहब्बत की हवा जिस्म की दवा बन गयी;
  • दूरी आपकी मेरी चाहत की सज़ा बन गयी;
  • कैसे भूलु आपको एक पल के लिए;
  • आपकी याद हमारे जीने की वजह बन गयी!

  • Do you want to know what your girlfriend wants
  • ⇖कैसे भुला दूं मैं उसकी यादों को,
  • मौत इंसानों को आती है, यादों को नही!

  • ⇴दिल की खामोशी से साँसों के ठहर जाने तक,
  • याद आएगा मुझे वो शख्स मर जाने तक!

  • इस दुनिया में सब कुछ बिकता है,
  • फिर जुदाई ही रिश्वत क्यों नही लेती;
  • मरता नही है कोई किसी से जुदा होकर,
  • बस यादें ही हैं जो जीने नही देती!

  • अब भी चले आते हैं ख़यालों में वो,
  • रोज़ लगती है हाज़िरी उस गैर हाज़िर की!

  • ख़तम हो गयी कहानी बस कुछ अल्फ़ाज़ बाकी हैं,
  • एक अधूरे इश्क़ की एक मुक़्क़ामाल सी याद बाकी है!

  • बस जीने ही तो नही देगी,
  • और क्या कर लेंगी यादें तेरी!

No comments :