Best Attitude Status for Whatsapp in Hindi Language 2017


  • चेहरे “अजनबी” हो जाये तो कोई बात नही, लेकिन रवैये “अजनबी” हो जाये तो बडी “तकलीफ” देते हैं !

  • “तीन ही उसूल हैं मेरी जिन्दगी के आवेदन,निवेदन और फिर ना माने तो दे दना दन !!

  • कमियाँ तो बहुत है मुझमे… पर कोई निकाल कर तो देखे…

  • तुम्हे तुम्हारा लहजा मुबारक .. हमे हमारी शराफत मुबारक

  • ज़िन्दगी से आप जो भी बेहतर से बेहतर ले सकते हो ले लो क्यूंकि जब ज़िन्दगी लेने पर आती है तो साँसे तक भी ले जाती है

  • हमारा सलाहकार कौन है ये बहुत ही महत्वपूर्ण है क्यूंकि दुर्योधन शकुनी से सलाह लेता था और पाण्डव श्रीकृष्ण से

  • क्यों हम भरोसा करें गैरों पर …!! जबकि हमें चलना है अपने ही पैरों पर…..

  • मेरी गलतियां मुझसे कहो, दूसरो से नहीं… क्योंकि सुधरना मुझे है उनको नहीं…

  • हजारों ना-मुकम्मल हसरतों के बोझ तले… ऐ दिल तेरी हिम्मत है, जो तू धङकता है…

  • Sponsored Links

  •  
  • वाकिफ़ तो रावण भी था, अपने अंजाम से.. मगर ज़िद्द थी उसकी, अपने अंदाज़ में जीने की…

  • चाहे कितना ही डाईटिंग कर लो, जब तक भाव खाना बंद नहीं करोगी, वजन कम नहीं होगा…

  • अगर आपकी वजह से किसी की ज़िन्दगी में कोई तकलीफ़ आए तो उसकी ज़िन्दगी से ऐसे निकल जाना चाहिए जैसे कभी उसकी ज़िन्दगी में आए ही नहीं।

  • अब मैं कुछ नहीं हूँ मैंने माना … कल को मशहूर हो जाऊ तो कोई रिश्ता मत निकाल लेना।

  • Sponsored Links

  •  
  • प्यार आज भी तुझसे इतना ही है … बस तुझे एहसास नही और हमने जताना ही छोड़ दिया

  • Sponsored Links

  •  
  • बाप के सामने अय्याशी… और हमारे सामने बदमाशी.. बेटा, भूल कर भी मत करियो..

  • मेरे बर्दाश्त करने का अंदाजा तू क्या लगायेगी..तेरी उम्र से कहीं ज्यादा..मेरे जिस्म पर जख्मो के निशाँ हैं..

  • रिश्ते निभाना हर किसी के बस की बात नही.. अपना दिल दुखाना पड़ता है किसी और की खुशी के लिये..


  •  
  • मेरी ख़ामोशी से किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता….. और शिकायत में दो लफ्ज़ कह दूँ तो वो चुभ जातें हैं।

  • इतने अमीर तो नहीं कि सब कुछ खरीद लें…पर इतने गरीब भी नहीं हुए कि खुद बिक जाएँ।

  • भले ही अपने ख़ास दोस्त कम हैं… पर जितने भी है nuclear bomb हैं।

  • Sponsored Links

  •  
  • मेरी फितरत में नहीं अपना गम बयां करना ,अगर तेरे वजूद का हिस्सा हूँ तो महसूस कर तकलीफ मेरी..

  • नफरत के बाज़ार में जीने का अलग ही मज़ा है , लोग रुलाना नहीं छोड़ते हम हसना नहीं छोड़ते।

No comments :