alone 2 line shayari in hindi urdu girlfriend Sent2017


  • ए नींद आजा के अब कोई नही है पास मेरे.!
  • की जिस के लिए तुझे छोड़ा था वो तो कब की सो गयी


  • ए दिल! क़सम से कोई नही, कोई नही, कोई नही,
  • यक़ीन मानो दरवाज़ा फकत हवा से खुला


  • ↟किस्मत बुरी या मैं बुरा यही फ़ैसला ना हो सका
  • ↞मैं हर किसी का हो गया बस कोई मेरा ना हो सका..


  • ⇎मेरी हेसियत का अंदाज़ा तुम ये जान कर लगा लोगे
  • ⇎हम उन के कभी नही होते, जो हेर किसी के हो जाए


  • ⇍वो मेरा था, ना मेरा है, कभी होगा नही..
  • ⇍दिमाग़ है ये कहता.. दिल मानता नही..


  •  

  • ⇎तेरी मुस्कुराहट, तेरे कह-कहे किसी और के थे,
  • ⇍जो तेरी आँखो से था टपका, वो मैं था..


  • ⇴अब देखिए तो, किस की जान जाती है,
  • ⇴मैने उस की, उस ने मेरी क़सम खाई है!!!


  • ए ज़िंदगी तू सच मे बहुत खूबसूरत है
  • फिर भी उसके बिना तू अच्छी नही लगती..!!


  • वो कब का भूल चुका होगा हमारी वफ़ा का क़िस्सा..!!!
  • बीछड़ कर,किसी से, किसी को, किसी का, ख़याल कब रहता है..!


  • मेरे सामने कर दिए मेरी तस्वीर क टुकड़े-टुकड़े..
  • पता चला मेरे पीछे वो उन्हे जोड़ कर बहुत रोए..!


  • तेरे ना होने से कुछ भी नही बदला,.
  • बस कल जहा दिल होता था, आज वहा दर्द होता है..!!


  • मसला ये नही क तेरा हू
  • मसला ये है की सिर्फ़ तेरा हू..!!


No comments :