Tuesday, 28 March 2017

खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम


  • सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
  • नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
  • हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर,
  • खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो.

No comments :