Tuesday, 28 February 2017

khushnashibi shayari hindi font 2017

➤हुए जिस पे मेहरबां तुम कोई खुशनसीब होगा;

➤मेरी हसरतें तो निकली मेरे आँसुओं में ढलकर.

No comments :