Tuesday, 28 February 2017

gam shayari hindi font 2017

➤गम में हूँ या हूँ शाद मुझे खुद पता नहीं;
➤खुद को भी हूँ मैं याद मुझे खुद पता नहीं;
➤मैं तुझ को चाहता हूँ मग़र माँगता नहीं;
➤मौला मेरी मुराद मुझे खुद पता नहीं...

No comments :