Tuesday, 28 February 2017

aarju shayari hindi font 2017

➤उम्र-ए-दराज मॉंग कर लाये थे चार दिन,
➤दो आरजू में कट गये, दो इंतज़ार में;
➤कितना है बदनसीब 'जफर',
➤दफ्न के लिये दो गज जमीं भी न मिली कू-ए-यार में...

No comments :