Saturday, 17 December 2016

Love Sad Shayari Hindi 2017


  • भीड़ भाड़ को छोड़ आए हैं बस तन्हाई भाई है.
  • वहां बहुत बेचैनी भोगी यहां खुमारी छाई है.
  • वो सवाल अब यहां नहीं हैं जिनके उत्तर मुश्किल थे.
  • जितनी हमने इच्छा की थी उतनी राहत पाई है.

No comments :