Wednesday, 28 September 2016

dard bhari shayari

#मेरी शायरी को इतनी शिद्दत से ना पढा करो;
#गलती से कुछ समझ आ गया तो बेमतलब उलझ जाओगे!

No comments :